मॉव लिंचिंग का शिकार हुऐ अज़ीज की विधवा नसरीन का दर्द कहा- मैंने अभी तक अपने बच्चो को यह नहीं बताया कि उनके पिता…

झारखण्ड: ओडिशा बॉर्डर के पास हल्दी पोखर ज़िला सराय केला ,वहा के रहने वाले थे शेख अज़ीज़, दो साल पहले दुबई से अपने वतन भारत वापस आये थे वहाँ से आने के बाद अज़ीज़ पुरानी कार खरीदते थे और उसको पेंट पॉलिश करके बेच देते थे।

अज़ीज़ पिछले साल 27 मई की शाम में अपने 3 दोस्तो के साथ निकले थे उसमे से एक दोस्त नईम जो की जानवरो को खरीदने बेचने का काम करता था रात में एक गाड़ी ने पीछा किया और आगे कुछ लोगो ने पेड़ काट कर डाल दिया, शेख हलीम वहा से जान बचाते हुए पास में अपने बहनोई के गाँव मे छुप गए ,10 हज़ार लोगो की भीड़ ने गांव घेर लिया और गाँव वालों से कहा कि इसे हमारे हवाले करो वरना इस गावँ को गुजरात बना देंगे।

हजारो की भीड़ ने गावँ को गुजरात बना देंगे कहते हुए सबकी आखों के सामने हलीम को बच्चा चोरी का इल्जाम लगा कर लात घुसो से पिट-पिट कर मार डाला तीनो दोस्त भागने की लाख कोशिश की लेकिन हजारो की भीड़ ने जंगल मे तीनो की जान ले ली।

अब्दुल अज़ीज़ की विधवा नहीं भूल सकते उस मंजर को

अब्दुल अज़ीज़ की विधवा बीवी नसरीन ने रोते हुए कहा कि न मैं वो रात भूल सकती हु न उन मारने वालो को मेरी दोनों बच्चिया स्कूल में है लेकिन लड़के के स्कूल जाने के लिए पैसे नहीं है, नसरीन ने कहा कि इन बच्चो के सामने इतनी लंबी ज़िन्दगी पड़ी है इन बच्चों की जिंदगी बगैर बाप के कैसे कटेगी लेकिन काटनी पड़ेगी।

नसरीन ने कहा की मैंने अपने छोटे बेटे को अभी तक ये नहीं बताया कि उनका बाप जिंदा भी है या नहीं, लेकिन ये कब तक छिपाउंगी, मुझे एक न एक दिन इस बच्चे को जरूर बताना होगा यह सब सुनते ही नसरीन की दो मासूम बेटियां कहकशा और मन्तशा दोनों फुट फुट कर रोने लगी।

अज़ीज़ की विधवा बीवी नसरीन ने फिलवक्त स्थिती ये है कि इस पूरे मामले में कोई वकील तक नही है, एक सरकारी वकील के भरोसे काम चल रहा है। यूनाईटेड अगेंस्ट हेट ने वकील का इंतेजाम किया है कहीं न कहीं से बच्चो की पढ़ाई का मामला भी किया जाएगा, कोशिश ये भी करेंगे इन तमाम लोगो को दिल्ली बुलाकर पूरे देश के सामने इनका दर्द रखा जाये।

अब्दुल अज़ीज़ के मामले में यूनाईटेड अगेंस्ट हेट जितनी हिम्मत है उतना काम कर रही है, आप लोग साथ देंगे तो शायद आगे कुछ हो जाये वरना सैकड़ो कहानियों में सिर्फ आंसू और अफ़सोस के सिवा कुछ नही।