इन 3 मुस्लिम देशों की करेंसी है दुनिया में सबसे महंगी करेंसी, जिनके आगे अमेरिकी डॉलर भी फेल

दुनिया भर में कुछ ऐसे देश भी है जिनकी करेंसी के आगे अमेरिकी डॉलर भी फेल है. कुछ कारेंसियों के आगे अमिरीकी डॉलर का भी कोई मुकाबला नही है. अमेरिका आए दिन अपने शक्तिशाली होने का रौव देखते हुए कई सारे देशों पर राजनायिक दबाव बनाकर जायज़ नाजायज़ काम करवाता रहता है.

लेकिन उसकी शक्ति और आर्थिक मज़बूती के बावजूद दुनिया मे उसकी करंसी इन मुस्लिम देशों के सामने कही टिकती हुई नज़र नही आती है. करेंसी मजबूत होने का संबंध अर्थव्यवस्था से होता है.

कुवैत: दुनिया के सबसे मंहगी करेंसी कुवैत की है. इस लिस्ट में इसका नाम सबसे पहला आता हैं. आपको बता दे दुनिया की सबसे महंगी मुद्रा कुवैत की दीनार हैं. एक दीनार के मूल्य की बात करते तो जहां यह 3.32 डॉलर के बराबर होती है. वही अगर हम इसे भारतीय मुद्रा से तुलना करे तो एक दीनार 222 रूपये का होता है.

कुवैती दीनार (Kuwaiti Dinar )

बहरीन: दुनिया की दूसरी सबसे महंगी करेंसी के रूप में बहरीन दीनार का नाम आता है. यहां भी अमेरिकी डॉलर फीका पड़ जाता है. जहाँ एक बहरीन दीनार 2.65 अमेरिकी डॉलर के बराबर बैठता है. वही अगर भारतीय रुपये से तुलना की जाए तो एक बहरीन दीनार 177.55 भारतीय रूपये के बराबर हैं.

बहरीन दीनार (Bahrain Dinar)

ओमान: इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर ओमान आता है. ओमान के रियाल की कीमत भी डॉलर से ज्यादा है. एक रियाल $2.60 डॉलर के बराबर होता हैं. वही अगर हम ओमान की मुद्रा से भारतीय मुद्रा की तुलना करे तो एक रियाल 174.02 रूपये के बराबर होता हैं.

ओमानी रिअल (Omani Rial)