हेलीकॉप्टर से कांवड़ियों पर लाखों रुपए लुटाने वाले सीएम योगी के पास अस्पताल में मर रहे बच्चों को बचाने के लिए पैसे नहीं हैं

यूपी की आदित्यनाथ योगी सरकार की इस बार कांवड़ियों पर कुछ ज़्यादा ही महरबानी देखने को मिली. सरकार ने अपने चहीते कांवड़ियों का स्वागत ऊपर से फूल बरसाकर किया. इस काम को अंजाम देने के लिए चॉपर का प्रयोग किया गया था और इसे सरकार ने 14 लाख रुपए खर्च कर किराए पर लिया था.

इकनॉमिक टाइम्स की ख़बर के अनुसार सरकार ने 7 अगस्त से लेकर 9 अगस्त तक कांवड़ यात्रा के दौरान कांवड़ियों पर फूल बरसाने के लिए एयर चार्टर सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड से 14.31 लाख रुपए का चॉपर किराए हायर किया. जिस पर सवार होकर मेरठ ज़ोन के एडीजी प्रशांत कुमार ने कांवड़ियों पर फूल बरसाए.

कांवड़ियों पर फुल बरसाने की तस्वीरें उन्होंने सोशल मीडिया पर भी शेयर की थी. इन तस्वीरों के सामने आने के बाद अब सोशल मीडिया पर लोगों का मानना है कि सरकार ने जनता की मेहनत की कमाई से जमा किए जाने वाले टैक्स के पैसों का ग़लत इस्तेमाल किया है.

इसी को लेकर पत्रकार गुरप्रीत गैरी वालिया ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि शर्म ही नही है सरकार को ऑक्सिजन के सिलिंडर खरीदने के पैसे नहीं हैं और इन कामों में बेफालतू के ख़र्चे.

वहीँ एक अन्य ट्विटर यूज़र ने लिखा है कि यह तुष्टीकरण की राजनीति है और कर अदा करने वालों के पैसों की बर्बादी. इस पैसे को कांवड़ियों की मदद के लिए भी इस्तेमाल नहीं किया गया और हेलीकॉप्टर से फूल बरसाकर बर्बाद कर दिया गया जिसका कोई फायदा नहीं है.

आपको बता दें कि यह मामला एक ऐसे सामने में सामने आया है जब कई जगहों पर कांवड़ियों द्वारा हिंसा और तोड़फोड़ के मामले सामने आए है. मंगलवार को दिल्ली के मोती नगर इलाके में कांवड़ियों ने सड़क पर एक कार के उन्हें सिर्फ छू जाने के बाद उसे बुरी तरह तोड़फोड़ डाला था जिसका वीडियो काफी वायरल हुआ.

इसके बाद एक घटना यूपी के बुलन्दशहर से सामने आई और जहां तो यह मामला एक कदम आगे निकल कर आया इस बार कांवड़ियों के उत्पात का शिकार पुलिस ही हुई. पुलिस से साथ झड़प और पुलिस की गाड़ी से तोड़फोड़ भी की गई. इसके बाद मामला मुजफ्फरनगर से सामने आया.

मुजफ्फरनगर में कांवड़ियों के एक समूह द्वारा एक कार में तोड़फोड़ की गई ख़बरों के अनुसार उस कार में बच्चे भी मौजूद थे. इन घटनाओं के वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे है साथ ही इन घटनाओं की कड़े शब्दों में आलोचना भी हो रही है.