20 साल की जवान लड़की ने अनाथ आश्रम में की आत्महत्या, जानिए इसके पीछे की वजह

बल्लभगढ़: समय बदल रहा है इस बात में कोई शक नहीं है. लेकिन, समय के साथ दुनिया भी बदलती जा रही है और साथ ही लोग भी. एक ज़माने में लोगों में प्यार और अपनापन इतना ज्यादा था कि हम और आप सोच भी नहीं सकते. लेकिन, अब वक्त बदल गया है.

आजकल अपने ही अपने नहीं रहे तो गैरों से उम्मीद रखना ही बेकार है. आज की युवा पीड़ी काफी तेज़ी से विकास की राह तक पहुँच रही है. सबके पास इन्टरनेट और स्मार्टफोन हैं.

घर बैठे बैठे लोग पूरी दुनिया पर नजर रख रहे हैं. लेकिन वहीँ कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो छोटी से छोटी बात से भी हिम्मत हार जाते हैं या गुस्सा रोक नहीं सकते. ऐसे में उनके पास सिर्फ एक ही रास्ता बचता है और वह है “मौत”. कुछ ऐसा ही एक अजीबो गरीब किस्सा हाल ही में हमारे सामने आया है.

जहाँ एक 20 साल की युवती ने आनाथाल्य में अपनी जान देदी. उसकी मौत की खबर से पूरा अनाथ आश्रम हैरान है. आखिर ऐसी क्या वजह थी जो इस मासूम को अपनी जान से हाथ धोना पड़ गया? इन सब सवालों का जवाब जानने के लिए चलिए बड़ते हैं पूरी खबर की तरफ.

अनाथ आश्रम में लगाई खुद को फांसी

आजकल की युवा पीड़ी को जाने क्या होता जा रहा है. छोटी सी गलती के लिए भी खुद को मौत की सज़ा दे देते हैं. कुछ ऐसा ही हादसा हाल ही में छायंसा स्थित चांदपुर गांव में हुआ. इस गाँव के अनाथ आश्रम में एक 20 साल की युवती ने कल सुबह खुद को फांसी लगा ली. घटना के बाद वहां पुलिस को बुलाया गया.

पुलिस अभी मामले की तह तक पहुँचने में लगीइ है. फ़िलहाल इस बात से सभी हैरान हैं कि उस लड़की ने आखिर किस वजह से अपनी जीवन लीला को समाप्त कर दिया. पुलिसने अभी लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

आनाथ आश्रम में ही पली बड़ी थी ये युवती

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें की मृतक लड़की का नाम आरती था. सेंजोपुरम चिल्ड्रन विलेज की संचालिका शीनूति पाउल के अनुसार वह बहुत सालों से आनाथ आश्रम चला रही थी. उन्होंने बताया कि साल 2004 में आरतीद्की उनके आश्रम आई थी. जानकारी के अनुसार आरती 7वीं कक्षा में पढ़ रही थी. अपने रूम में वह एक और लड़की के साथ रहती थी.

जब सुबह सुबह दूसरी लड़की पूजा करने के लिए गिरजाघर गयी तो आरती ने मौके का फायदा उठाया और कमरे में लटक रहे पंखे से अपने आप को फांसी लगा ली. पुलिस थाणे के अधिकारी प्रभार सिंह ने बताया कि आरती की मौत अभी तक एक रहस्य बन कर रह गयी है.

कोई नहीं जानता कि आखिर उसने अपनी जान किस कारण दी थी. पुलिस ने बताया कि अभी तक उन्हें आरती का कोई सुसाइड लैटर भी नहीं मिला है.

फिलहाल आरती के बारे में किसी को कुछ नहीं पता है कि उसके मरने के पीछे वजह क्या थी. और किसी सुसाइड लैटर के ना मिलने के कारण पुलिस भी हैरान है. पुलिस ने दावा किया है वह जल्द से जल्द मामले की जड़ तक पहुँच के रहेंगे.