वीडियो: मॉबलिंचिंग करने वालों के साथ वही सलूक होना चाहिए जो आतंकियों के साथ किया जाता है, स्वामी अग्निवेश

देश में लगातार मोब लिंचिग की घटनाएं सामने आ रही है सराकर के तमाम कोशिशों के बाद भी यह घटनाएँ थमने का नाम नहीं ले रही है. भीड़ द्वारा हत्या के अब तक कई मामले सामने आये है वहीँ कुछ लोगों का मानना है कि इन घटनाओं को लेकर सरकार का रूख नर्म है इसलिए यह थमने का नाम नहीं ले रही है.

मॉब लिंचिंग पर चल रही इस बहस के बीच स्वामी अग्निवेश ने सरकार से इन घटनाओं के आरोपियों पर सख्त करवाई की मांग की है. आर्य समाज के नेता और हरियाणा के पूर्व मंत्री स्वामी अग्निवेश में मांग की है कि मॉब लिंचिंग के आरोपियों के साथ आतंकवादियों के साथ जो व्यवहार किया जाना है वहीँ व्यवहार उनके साथ किया जाना चाहिए.

स्वामी ने कहा कि जो लोग भी मॉब लिंचिंग करते है उन पर आतंकवाद निरोधक कानून युएपीए के तहत उन पर मामला दायर किया जाना चाहिए और उसी के तहत उन पर कार्रवाई होनी चाहिए. आपको बता दें कि पिछले महीने सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर झारखंड के पाकुड़ में कुछ लोगों द्वारा हमला किया था.

कथित तौर पर भगवा समूहों के इन लोगों द्वारा अग्निवेश पर हमला कर उनके साथ मारपीट की गई. इसके बाद उन्होंने आरोप लगाया था कि उन पर हमले में शामिल हमलावरों पर झारखंड पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. आरोपियों की पहचान भी कर दी गई लेकिन 15 दिन बीत चुके है लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

 

इसी के चलते स्वामी ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर करके अपने पर हुए हमले की एसआईटी जांच की मांग करने का फैसला किया है. उनका आरोप है कि उनके हमलावर बीजेपी सहित भगवा संगठनों के सदस्य है. उनका कहना है कि उन पर हमले के लिए उन्हें उच्च स्तर से आदेश दिए गए थे.