यह है इस्लाम: केरल की आयशा बीवी ने रमजान के महीने में अपने बेटे के हत्यारे को माफ़ किया

मलप्पुरम: रमजान उल मुबारक का पवित्र महिना चल रहा है. यह माह बहुत पाक होता है इसमें किये गए कर्मों का फल अल्लाह कई गुना बढाकर देता है. ऐसे ही पाक माह में एक मुस्लिम महिला ने अपने बेटे के कातिल को भी अल्लाह ने मेरे बेटे को जल्दी बुला लिया. यही उसका नसीब था. दूसरा जन्म भी उसे वापस नहीं ला पायेगा कहते हुए माफ़ कर दिया।

खबर केरल से हैं , केरल में रमजान माह में एक मां ने अपने बेटे के हत्यारे को माफ कर दिया है। केरल में रहने वाली आयशा बीवी का कहना है कि अल्लाह ने मेरे बेटे को जल्दी बुला लिया है। वह उसका भाग्य है, एक और जिंदगी मेरे बच्चे को वापस नहीं ला सकती। अली की पत्नी रजिया और उसके रिश्तेदार आसिफ की मां और अन्य परिजन से मिले और माफ करने का अनुरोध किया।

बता दे , इस माफीनामे पर दस्तखत के बाद इस खत को को सऊदी अरब के दम्मम भेजा गया। ख़बर है की इस खत को जल्द ही अदालत में पेश किया जाएगा।

मुहर्रम अली सऊदी अरब के अल-हसा में एक पेट्रोल पंप पर काम करते थे और आसिफ वहां उनके सुपरवाइजर थे। दोनों के बीच दोस्ती थी और एक ही कमरे में रहते थे लेकिन एक रात अली ने गला काटकर आसिफ की हत्या कर दी। इसके बाद अली को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. सऊदी अरब की अदालत ने पिछले साल ही अली को मौत की सजा सुनाई थी।

लेकिन ऐसे में अब आसिफ की अम्मी आयशा बीवी के माफीनामे को सऊदी अरब के दम्मम में अदालत में पेश किया जाएगा. बताया जा रहा है कि मुमकिन है कि माफ़ीनामें के बाद मुहर्रम अली की सज़ा ए मौत माफ़ हो जाए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार केएमसीसी के पूर्व सचिव कुनहालसन कुट्टी ने बताया अली कुछ समय बाद मानसिक रूप से बीमार हो गया. सऊदी पुलिस ने उसकी मानसिक स्थिति को देखते हुए केएमसीसी से अली की मदद करने की बात कही थी।