ATS टीम अगर वैभव की जगह ‘वसीम’ को पकड़ती तो उसे आरोपी नहीं आतंकी लिखा जाता-न्यूज़ एंकर साक्षी

मुंबई के पालघर जिले में स्वतंत्रता दिवस के पूर्व बम्बई एंटी टेर्रोरेस्ट स्काड को बड़ी सफलता मिली हैं. गुरुवार देर शाम जिले के नालासोपारा पश्चिम स्थित भंडार अली इलाके में यह छापा सनातन संस्था के वैभव राउत के घर पर मारा गया है. दावा किया जा रहा है कि उसके घर से एटीएस ने बम बनाने की समग्री बरामद की है.

इसके बाद पुलिस अब इसका पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर वैभव राउत को इतनी विस्फोटक सामग्री की क्या जरूरत थी. इसके आलावा पुलिस को वैभव के घर के पास स्थित एक दूकान से गन पावडर डेटोनेटर की इतनी बड़ी मात्रा मिली है कि जिससे करीबन दो दर्ज़न खतरनाक बम बनाए जा सकते थे.

वहीँ दूसरी तरह पुलिस इस मामले को लेकर आतंकवादी के रूप में दर्ज करने से घबरा रही है जिसका कराण शायद हिंदू धर्म से जुड़े लोगों के पास बम सामग्री मिलने पर वह राष्ट्र सेवा कहलाती हैं. इसी मामले को लेकर न्यूज़ एंकर और पत्रकार साक्षी जोशी ने भी सवाल उठाए है.

साक्षी जोशी ने आतंकवाद को धर्म के नजरिये से देखने वालों पर भी निशाना साधा है. साथ ही मीडिया द्वारा वैभव को आरोपी लिखने पर न्यूज़ एंकर साक्षी जोशी ने सवाल करते हुए कहा कि सनातन संस्था में 8 बम मिले वैभव नाम के शख़्स को गिरफ़्तार किया गया है.

उन्होंने कहा कि अभी अगर किसी वसीम के यहाँ से यह सब मिला होता तो उसे आरोपी नहीं आतंकी लिख दिया जाता. इसलिए आतंकवाद को धर्म से नहीं जोड़ना चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हाँ धर्म के नाम पर आतंकी बनाने का काम जरूर किया जा रहा है.

आगे उन्होंने कहा कि संस्था के कार्यकर्ता के घर और दुकान से मिला है बम पालघर की सनातन संस्था से डेटोनेटर, 8 देसी बम मिले आरोपी वैभव की दुकान से बम बनाने की सामग्री मिली है. एटीएस पिछले कई दिन से वैभव को ट्रैक कर रही थी और उस पर नजर रख रही थी. वहीँ उन्होंने बताया कि सनातन संस्था अब इस मामले से पल्ला झाड़ रही है.