पाकिस्तान इमरान खान की पार्टी PTI के इन हिन्दू उम्मीदवारों ने गाड़े झंडे, इन लोगों को मिली जीत

भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में हाल ही में आम चुनाव हुए है. हाल ही में घोषित किये गए चुनाव परिमाणों में पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ पाकिस्तान की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. तहरीक ए इंसाफ के प्रमुख इमरान खान है.

तहरीक ए इंसाफ के सबसे बड़ी पार्टी बनने के बाद ऐसे उम्मीदें जताई जा रही है कि पार्टी के प्रमुख और क्रिकटर से राजनेता बने इमरान खान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनेगे. हालांकि इमरान खान के पास पर्याप्त बहुमत नही है ऐसे में उन्हें गठजोड़ की आवश्यकता होगी.

पाकिस्तान के आम चुनाव में इस बार कुछ अल्पसंख्यक समाज के प्रत्याशियों ने भी चुनाव जीता है. आम चुनाव में तीन अल्पसंख्यक उम्मीदवारों ने जीत दर्ज करके इतिहास रचा है. सिंध प्रांत की थारपारकर सीट से हिन्दू प्रत्याशी महेश मलाणी ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ते हुए भारी अंतर से जीत कर की है.

महेश ने अरबाब जकाउल्लाह को 29 हजार 543 वोटों से हराया है. महेश मालानी को बिलावल भुट्टो के नजदीकी माने जाते है. पीपीपी के दो अन्य हिंदू उम्मीदवारों ने भी सिंध प्रांत से आम चुनावों में जीत दर्ज की है.

हरिराम किशोरी लाल ने सिंध के मीरपुर खास-1 की सीट से अपने निकटतम प्रत्याशी एमक्यूएम पी के मुजीबुल हक़ को 9695 मतों से हरा कर जीत दर्ज की है. सिंध की ही जमशोरो-२ पीएस-81 सीट से पीपीपी के ही ज्ञानचंद इसरानी में जीत दर्ज की है. इसरानी सिंध की पिछली सरकार में आबकारी और कर मंत्री रह चुके है.

आपको बता दें कि पाकिस्तान के सिंध प्रान्त में हिन्दू आबादी बाकी प्रान्तों की तुलना में अधिक है. जहां के हिन्दुओं का सिंध प्रान्त में सरकारी नौकरी व्यापर में भी अच्छा खासा वर्चस्व है. यही कारण है कि हिन्दू समाज अल्पसंख्यक होने के बावजूद भी सिंध प्रांत में प्रभावी है.