हिन्दू धर्म को खतरा हिन्दुत्ववादियों से हैं.. इन्हे भगाओ और धर्म बचाओ, जनहित में जारी

हाल ही में बॉलीवुड अभिनेत्री ऋचा चड्डा ने देश में बढ़ रही रेप की घटनाओं के लेकर सरकार का घेराव किया था। उन्होंने सोशल मीडिया साइट ट्विटर के जरिये बीजेपी और आरएसएस समेत हिंदूवादी संगठनों पर निशाना साधा है। जो धर्म की राजनीति कर भारत के भाईचारे को तोड़ने की साज़िशें करते हैं।

ऋचा ने ट्वीट कर कहा है कि हाँ है भारत में हिन्दू घर्म को ख़तरा। हिंदू धर्म को ख़तरा है हिन्दुत्ववादियों से। धर्म बचाओ,हिन्दुत्ववादियों को भगाओ। जनहित में जारी।

ऋचा के इस ट्वीट पर उन्हें सकरात्मक और नकारात्मक दोनों तरह की टिप्पणियां मिल रही हैं। लोग देश को तोड़ने वाली ऐसी ताकतों पर सीधा हमला बोलने के लिए ऋचा की हिम्मत की दाद भी दे रहे हैं, वहीँ सोशल मीडिया पर बैठे इन दक्षिणपंथी संगठनों के समर्थक उन्हें ट्रोल भी करने की कोशिश कर रहे हैं।

गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं जब रिचा चड्ढा ने इस तरह का बयान दिया है। उन्नाव और कठुआ दुष्कर्म गैंगरेप मामलों पर भी उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार को आड़े हाथ लिया था। रिचा ने अप्रैल में ट्वीट किया था, ‘प्रिय सराकर, कृपा करके ‘बेटी बचाओ’ को बदलकर ‘बेटी हम से ही बचाओ’ कर दीजिए। आपके विधायक ही आपके नारे का मजाक बना रहे हैं। पीड़िता के पिता की जेल में हत्या कर दी गई। हिंदू होने का दावा न करें, क्योंकि आप महिलाओं को देवी की नजर से नहीं देखते हैं। ऐसे में अब इस पाखंड को बंद करें।

इससे पहले भी ऋचा ने लोकतंत्र में विचार और अभिव्यक्ति की आजादी को लेकर सख्त बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि आज शासन करने का तरीका है कोई भूखा हो तो उससे कहो कि राष्ट्रगान गाओ। बॉलीवुड अभिनेत्री ने कहा था कि लोकतंत्र का मतलब है आप जो चाहें, जहां चाहें और जैसे चाहें अपन बात कह सकते हैं। इसमें सरकार पूरी तरह से आपके प्रति जवाबदेह रहेगी।